Home » नूतन गृह प्रवेश शुभ मुहूर्त 2022-23: नए साल में कब करें गृह प्रवेश, जानिये शुभ तिथि एवं मुहूर्त

नूतन गृह प्रवेश शुभ मुहूर्त 2022-23: नए साल में कब करें गृह प्रवेश, जानिये शुभ तिथि एवं मुहूर्त

griha-pravesh-2023

साल 2023 में गृह प्रवेश के शुभ मुहूर्त: हिंदू मान्यताओं और वास्तु शास्त्र के अनुसार शुभ मुहूर्त और तिथि में घर में प्रवेश करना जरुरी होता है। ऐसे करने से उस घर में रहने वाले लोगों का जीवन सुख और समृद्धि से भरा होता है। घर में शांति बनी रहती है और बाधायें दूर रहती है। अगर आप गृह प्रवेश शुभ मुहूर्त के बारे में सोंच रहे हैं तो साल 2023 की ये तिथियां बहुत ही शुभ एवं मंगलकारी साबित होगी।

नमस्कार 🙏🙏🙏

आज हम  गृह प्रवेश के शुभ मुहूर्त 2023 के बारे में जानेंगे। नया साल शुरू होने में कुछ ही दिन बाकी है। ऐसे में अगर आप नए घर में शिफ्ट करने की सोंच रहें है तो पहले शुभ दिन एवं मुहूर्त के बारें में जान लें। गृह प्रवेश हमेशा मंगल मुहूर्त में ही करनी चाहिए। ऐसा करने से आपके नए घर में सुख शांति और समृद्धि बनी रहेगी। इस पोस्ट में आप जानेंगे कि 2023  के कौन से माह में कौन से तिथि को नए घर में प्रवेश करनी चाहिए।

मानव जीवन में घर का बहुत ही महत्त्व होता है। घर एक ऐसी जगह होती है जहां मनुष्य अपने परिवार के  साथ सुखपूर्वक निवास करता है। अगर घर अपना हो तो इसकी बात ही कुछ और है। अपने स्वयं के निवास स्थल होना हर व्यक्ति का सपना होता है। और इस सपने को पूरा करने के लिए वह दिन-रात परिश्रम करता है।

"कितना खौफ होता है शाम के अंधेरों में,
पूछ उन परिंदों से जिनके घर नहीं होते."

इसलिए यह बहुत ही जरुरी है कि नए घर में प्रवेश किसी शुभ दिन को ही करना चाहिए। इसके अलावा आप को शुभकर मुहूर्त का भी ख्याल रखनी चाहिए।

यदि आप नए साल 2023 में नए घर में प्रवेश करने जा रहे है, तो आइए जानते है कि गृह प्रवेश के लिए कल्याणकारी मुहूर्त कब है? कौन कौन से दिन है जब आपको नए घर में प्रवेश करनी चाहिए?

आइये जानते है 2022-23 के नूतन गृह प्रवेश मुहूर्त और तारीख के बारे में

वास्तु शास्त्र और हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, नए घर में प्रवेश करने के लिए कुछ ख़ास दिन होते हैं। जहां कुछ दिन को शुभ माना जाता है वही कुछ दिन अशुभ भी होते हैं। इसलिए, आपको किसी शुभ दिन और मुहूर्त में ही नए घर में शिफ्ट करनी चाहिए।

अगर आप अपनी नये घर में शुभ तारीख और शुभकर मुहूर्त के प्रवेश करते है तो आपका गृहस्थ जीवन सुखद रहेगा। आपके घर सकारात्मक ऊर्जा से भरा रहेगा। बुरी शक्तियां और नकारात्मक ऊर्जा हमेशा आपके घर से दूर रहेगी। घर में सुख-समृद्धि बनी रहेगी और नया घर आपके लिए मंगलमय होगा।

गृह प्रवेश के लिए उत्तम दिन और मुहूर्त के बारे में जानना जरुरी है। अगर आप इसकी जानकारी रखते है तो आप एडवांस में प्लानिंग कर सकेंगे।

दिसंबर 2022 में गृह प्रवेश शुभ दिन एवं मुहूर्त

शुभ दिन एवं दिनांकशुभ मुहूर्तशुभ तिथिशुभ नक्षत्र
2 दिसम्बर, 2022, शुक्रवार06:56 AM से 06:57 AM, दिसम्बर 03दशमी, एकादशीउत्तर भाद्रपद, रेवती
3 दिसम्बर, 2022, शनिवार06:57 AM से 05:34 AM, दिसम्बर 04एकादशीरेवती
8 दिसम्बर, 2022, बृहस्पतिवार09:37 AM से 07:02 AM, दिसम्बर 09प्रतिपदारोहिणी, मॄगशिरा
9 दिसम्बर, 2022, शुक्रवार07:02 AM से 02:59 PMप्रतिपदा, द्वितीयामॄगशिरा

साल 2023 में गृह प्रवेश के शुभ दिन, तिथि और मुहूर्त

यदि आप साल 2022 में अपने नए घर में प्रवेश की योजना बना रहे हैं तो, आप नीचे दिए गए शुभकर मुहूर्त और शुभ तारीख की सूचि देखें। यह गृह प्रवेश मुहूर्त और तारीख की सूचि आपके लिए निश्चित रूप से फायदेमंद हो सकती है। यहाँ हम साल 2022  के हर महीने में कौन सी तारीख को, किस नक्षत्र में गृह प्रवेश करनी चाहिए इसके बारे में बतायेगें।

जनवरी 2023 में गृह प्रवेश के शुभ मुहूर्त

दिनांक/ दिनसमय (मुहूर्त)शुभ नक्षत्रशुभ तिथि
25 जनवरी, बुधवार08:05 PM से 07:12 AM, जनवरी 26उत्तर भाद्रपदपंचमी
26 जनवरी, गुरुवार07:12 AM से 10:28 AMउत्तर भाद्रपदपंचमी
27 जनवरी, शुक्रवार09:10 AM से 06:37 PMरेवतीसप्तमी
30 जनवरी, सोमवार10:15 PM से 07:10 AM, जनवरी 31रोहिणीदशमी

फरवरी 2023 में गृह प्रवेश के शुभ मुहूर्त

दिनांक/ दिनसमय (मुहूर्त)शुभ नक्षत्रशुभ तिथि
1 फरवरी, बुधवार07:10 AM से 02:01 PMमृगशीर्षएकादशी
8 फरवरी, बुधवार08:15 PM से 06:23 AM, फरवरी 09उत्तर फाल्गुनीतृतीया
10 फरवरी, शुक्रवार12:18 AM से 07:03 AM, फरवरी 11चित्रापंचमी
11 फरवरी, शनिवार07:03 AM से 09:08 AMचित्रापंचमी
12 फरवरी, बुधवार06:54 AM से 03:24 AM, फरवरी 23उत्तर भाद्रपदतृतीया
23 फरवरी, गुरुवार01:33 AM से 03:44 AM, फरवरी 24रेवतीपंचमी

मार्च 2023 में गृह प्रवेश के शुभ मुहूर्त

दिनांक/ दिनसमय (मुहूर्त)शुभ नक्षत्रशुभ तिथि
1 मार्च, बुधवार06:47 AM से 09:52 AMमृगशीर्षदशमी
8 मार्च, बुधवार06:39 AM से 04:20 AM, मार्च 09उत्तर फाल्गुनीप्रतिपदा, द्वितीया
9 मार्च, गुरुवार05:57 AM से 06:37 AM, मार्च 10चित्रा, Hastaतृतीया
10 मार्च, शुक्रवार06:37 AM से 09:42 PMचित्रातृतीया
13 मार्च, सोमवार09:27 PM से 06:33 AM, मार्च 14अनुराधासप्तमी
16 मार्च, गुरुवार04:47 AM से 06:29 AM, मार्च 17उत्तराषाढ़दशमी
17 मार्च, शुक्रवार06:29 AM से 02:46 AM, मार्च 18उत्तराषाढ़दशमी, एकादशी

अप्रैल 2023 में गृह प्रवेश के शुभ मुहूर्त

अप्रैल माह में कोई भी शुभ दिन और मुहूर्त नहीं है गृह प्रवेश के लिए।

मई 2023 में गृह प्रवेश के शुभ मुहूर्त

दिनांक/ दिनसमय (मुहूर्त)शुभ नक्षत्रशुभ तिथि
6 मई, शनिवार09:13 PM से 05:36 AM, मई 07अनुराधाद्वितीया
11 मई, गुरुवार11:27 AM से 02:37 PMउत्तराषाढ़सप्तमी
15 मई, सोमवार09:08 AM से 01:03 AM, मई 16उत्तर भाद्रपदएकादशी
20 मई, शनिवार09:30 PM से 05:27 AM, मई 21रोहिणीद्वितीया
22 मई, सोमवार05:27 AM से 10:37 AMमृगशीर्षतृतीया
29 मई, सोमवार11:49 AM से 04:29 AM, मई 30उत्तर फाल्गुनीदशमी
31 मई, बुधवार06:00 AM से 01:45 PMचित्राएकादशी

जून 2023 में गृह प्रवेश के शुभ मुहूर्त

दिनांक/ दिनसमय (मुहूर्त)शुभ नक्षत्रशुभ तिथि
12 जून, सोमवार10:34 AM से 05:23 AM, जून 13उत्तर भाद्रपद, रेवतीदशमी

जुलाई 2023 में गृह प्रवेश के शुभ मुहूर्त

जुलाई माह में कोई भी शुभ दिन और मुहूर्त नहीं है गृह प्रवेश के लिए।

अगस्त 2023 में गृह प्रवेश के शुभ मुहूर्त

अगस्त माह में कोई भी शुभ दिन और मुहूर्त नहीं है गृह प्रवेश के लिए।

सितम्बर 2023 में गृह प्रवेश के शुभ मुहूर्त

सितम्बर माह में कोई भी शुभ दिन और मुहूर्त नहीं है गृह प्रवेश के लिए।

अक्टूबर 2023 में गृह प्रवेश के शुभ मुहूर्त

अक्टूबर माह में कोई भी शुभ दिन और मुहूर्त नहीं है गृह प्रवेश के लिए।

नवंबर 2023 में गृह प्रवेश के शुभ मुहूर्त

दिनांक/ दिनसमय (मुहूर्त)शुभ नक्षत्रशुभ तिथि
17 नवंबर, शुक्रवार01:17 AM से 06:46 AM, नवंबर 18उत्तराषाढ़पंचमी
18 नवंबर, शनिवार06:46 AM से 09:18 AMउत्तराषाढ़पंचमी
22 नवंबर, बुधवार06:37 PM से 06:50 AM, नवंबर 23उत्तर भाद्रपददशमी, एकादशी
23 नवंबर, गुरुवार06:50 AM से 09:01 PMउत्तर भाद्रपद, रेवतीएकादशी
27 नवंबर, सोमवार02:45 PM से 06:54 AM, नवंबर 28रोहिणीप्रतिपदा
29 नवंबर, बुधवार06:54 AM से 01:59 PMमृगशीर्षद्वितीया

दिसंबर 2023 में गृह प्रवेश के शुभ मुहूर्त

दिनांक/ दिनसमय (मुहूर्त)शुभ नक्षत्रशुभ तिथि
6 दिसंबर, बुधवार03:04 AM से 06:29 AM, दिसंबर 07उत्तर फाल्गुनीदशमी
8 दिसंबर, शुक्रवार08:54 AM से 06:31 AM, दिसंबर 09चित्राएकादशी
15 दिसंबर, शुक्रवार08:10 AM से 10:30 PMउत्तराषाढ़तृतीया
21 दिसंबर, गुरुवार09:37 AM से 10:09 PMरेवतीदशमी

गृह प्रवेश क्या है और ये क्यों जरुरी है उत्तम मुहूर्त में करना?

grih-pravesh-kya-hai

मनुष्य के लिए घर होना जरुरी होता है। घर चाहे अपना हो या फिर किराये का, घर घर होता है। जब हम किसी घर में पहली बार प्रवेश करते है तो हमारा मन नई आशा, नए सपने और नई उमंग से भरा होता है।

जब घर अपना होता है तो यह किसी सपने से तनिक भी कम नहीं होता है। अपनी घर का मतलब अपनी एक छोटी सी दुनिया, जहाँ हम भिन्न भिन्न तरह के सपने संजोते है। पहली बार अपने नई घर में शिफ्ट करना एक ऐसा अहसास होता है जिसे हम शब्दों में बयां नहीं कर सकते।

यह एक ऐसा पल होता है जिसे हम ताउम्र के लिए यादगार बना देना चाहते है। हमें अपने नए घर से ढेर साड़ी अपेक्षाएं होती है। हमारी यही कामना होती है कि हमार नया घर अपार खुशियां लाये। नया घर हमारे लिए प्रगतिकारक हो,मंगलमयी हो और साथ में यश, सुख, समृद्धि, सौभाग्य और खुशियों की सौगात दे।

लेकिन कई बार यह देखा गया है कि आपको अपनी नयी दुनिया रास नहीं आने लगती है। घर में बेवजह कलह और क्लेश होने लगता है। और इस तरह से आपके सारे सपने बिखरने लगते हैं। आखिर क्या कारण हो सकता है इसका?

आइये जानते है इसका कारण।

हमारे ख्याल से इसका प्रमुख कारण हो सकता है – आपने अपने नए घर में प्रवेश करने से पहले गृह प्रवेश पूजा नहीं किया हो या सही तरीके से नहीं किया हो।

यह भी हो सकता है कि गृह प्रवेश के दौरान अनजाने में वास्तु पूजा नहीं कि हो या फिर वास्तु नियमों का पालन नहीं किया हो। इनके अलावा यह भी हो सकता है कि आपने नए घर में शुभ दिन को प्रवेश नहीं किया हो।

नए घर में प्रवेश करने के लिए या गृह प्रवेश के दिन को चुनने के लिए, इन बातो का भी ध्यान रखे

गृह प्रवेश के लिए शुभ एवं अशुभ माह (महीना)

शुभ माह: माघ, फाल्गुन, वैसाख और ज्येष्ठ माह को गृह प्रवेश के लिए बहुत ही शुभ माना जाता है।

अशुभ माह: आषाढ़, श्रावण, भाद्रपद, आश्विन, और पौष माह को गृह प्रवेश के लिहाज से शुभ नहीं माना जाता है।

गृह प्रवेश के लिए शुभ एवं अशुभ दिन

शुभ दिन: गुरुवार के दिन को गृह प्रवेश के लिए बहुत ही शुभ दिन माना गया है। सोमवार, बुधवार, और शुक्रवार को भी गृह प्रवेश के लिहाज से शुभ माना गया है। इसके अलावा, शुक्लपक्ष तिथि द्वितीया, तृतीया, पंचमी, सप्तमी, दशमी, एकादशी और त्रयोदशी को गृह प्रवेश के लिए शुभ और सही दिन बताया गया है।

अशुभ एवं वर्जित दिन: मंगलवार के दिन को गृह प्रवेश को शुभ नहीं माना जाता है। रविवार और शनिवार को भी गृह प्रवेश के लिए (विशेष परिस्थितियों में) वर्जित माना गया है। इसके अलावा, अमावस्या और पूर्णिमा को भी गृह प्रवेश नहीं करनी चाहिए।

जाने कितने प्रकार के होते है गृह प्रवेश?

हिन्दू शास्त्रों के अनुसार, पूजा का बहुत ही महत्त्व होता है। चाहे गृह प्रवेश हो या नयी दूकान का शुभारम्भ हो, हर कार्य में पूजा का एक अलग महत्त्व होता है।  चाहे आप लक्ष्मी पूजा करना चाहते हो या गणेश पूजा, आपको पूजा मन से, पूरी श्रद्धा से और सच्ची आस्था के साथ करनी चाहिए।

गृह प्रवेश पूजा का एक अलग ही महत्त्व होता है क्योंकि ये वो दिन होता है जब आप एक नए घर में प्रवेश करते है। और इस लिहाज से, ने घर की शान्ति और समृद्धि के लिए गृह पूजा करना अनिवार्य माना गया है।

क्या आप जानते है कि गृह प्रवेश कितने प्रकार के होते है? हिन्दू शास्त्रों के अनुसार,गृह प्रवेश निम्नलिखित तीन प्रकार के होते है।

1. अपूर्व गृह प्रवेश

अपूर्व गृह प्रवेश उसे कहते है जब कोई व्यक्ति पहली बार नयी बयान गए घर में प्रवेश करते है।

2. सपूर्व गृह प्रवेश

कई बार कुछ लोग किसी कारणवश अपने परिवार के साथ किसी दूसरी जगह (शहर) में अपने घर को खाली छोड़ कर रहने के लिए चले जाते है। जब वे फिर से अपने घर में वापस चाहते है तो उसके पहले भी गृह पूजा और घर शान्ति पूजा करवाते है। ऐसी गृह प्रवेश पूजा को सपूर्व गृह प्रवेश कहा जाता है।

3. द्वान्धव गृह प्रवेश

कभी कभी कुछ लोगो को अपने घर को किसी परेशानी या आपदा के वजह से कुछ समय के लिए छोड़ना पड़ता है। जब वे दोबारा उस घर में प्रवेश करते है तो सबसे पहले वे गृह पूजा और घर शांति पूजा करवाते है। ऐसी पूजा को द्वान्धव गृह प्रवेश कहते है।

गृह प्रवेश पूजा सामग्री लिस्ट

  • कलश – 1
  • मिट्टी के बड़ा दीया – 1
  • श्री फल या नारियल – 1
  • साबुत चावल – 1 किलो 250 ग्राम
  • पंच मेवा – 250 ग्राम
  • पंच मिठाई – 500 ग्राम
  • पांच ॠतु फल – श्रद्धा अनुसार
  • शक्कर (गुड़) – 250 ग्राम
  • आटा – सवा किलो
  • देशी घी – 1 किलोग्राम
  • गंगाजल – 1 लीटर
  • पान के पत्ते – 7
  • आम या अशोक के पत्ते – 11 पत्ते
  • आम की लकडियां – 2 किलोग्राम
  • लकड़ी का चौकी – 1
  • लाल कपडा – सवा मीटर
  • पीला कपड़ा – सवा मीटर
  • हवन कुंड – 1
  • हवन सामग्री – 1किलो ग्राम
  • धूप -1पैकेट
  • अगरबत्ती – 1 पैकेट
  • काले तिल – 250 ग्राम
  • जौ – 250 ग्राम
  • फूल माला, फूल – 5
  • रोली या कुमकुम – 1 पैकेट
  • साबुत हल्दी – 100 ग्राम
  • लौंग – 10 ग्राम
  • इलाइची – 10 ग्राम
  • सुपारी – 11
  • मौली – 1 गोली
  • जनेऊ – 7
  • दही – 100 ग्राम
  • कच्चा दूध – 100 ग्राम
  • शहद – 250 ग्राम
  • रूई – 1पैकेट
  • कपूर – 11 टिक्की
  • दोने – 1 पैकेट

गृह प्रवेश मंगलकारी मुहूर्त — अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न: नए घर में प्रवेश के लिए कौन कौन से दिन (वार) शुभ होते है?

उत्तर: सोमवार, बुधवार, गुरुवार और शुक्रवार को गृह प्रवेश के लिए शुभ माना गया है।  वैसे आपको पंडित जी से अच्छे मुहूर्त की जानकारी लेकर ही नए घर में शिफ्ट करनी चाहिए।

प्रश्न: कौन कौन सी तिथियां गृह प्रवेश के लिए शुभ होती है?

उत्तर: हिन्दू पंचांग के अनुसार शुक्लपक्ष की द्वितीया, तृतीया, पंचमी, सप्तमी, दशमी, एकादशी, द्वादशी, व त्रयोदशी को गृह प्रवेश के ख्याल से शुभ माना गया है।

प्रश्न: गृह प्रवेश के लिए कल्याणकारी नक्षत्र कौन  है?

उत्तर: अमावस्या और पूर्णिमा को छोड़कर शुक्लपक्ष तिथि द्वितीया, तृतीया, पंचमी, सप्तमी, दशमी, एकादशी और त्रयोदशी को गृह प्रवेश के लिए शुभ और सही दिन बताया गया है।

प्रश्न: किस दिन को गृह प्रवेश के लिए शुभ नहीं माना गया है?

उत्तर: मंगलवार को गृह प्रवेश के लिए शुभ नहीं माना गया है।  रविवार और शनिवार को भी गृह प्रवेश के लिए (विशेष परिस्थितियों में) वर्जित माना गया है।

प्रश्न: सप्ताह के किस दिन को गृह प्रवेश के लिए सबसे सही और शुभ दिन माना गया है?

उत्तर: गुरुवार के दिन को गृह प्रवेश के लिए बहुत ही शुभ दिन माना गया है।

प्रश्न: क्या  अमावस्या या पूर्णिमा को नए घर में शिफ्ट करना चाहिए ?

उत्तर: नहीं। आपको अमावस्या और पूर्णिमा को नये घर में शिफ्ट नहीं करनी चाहिए।  अमावस्या और पूर्णिमा को गृह प्रवेश के लिए सही दिन नहीं माना गया है।

प्रश्न: क्या गृह प्रवेश पूजा करवाना जरुरी है ? गृह प्रवेश पूजा नहीं करवाने का क्या नुकसान है?

उत्तर: गृह  प्रवेश पूजा (गृह शांति पूजा ) बहुत ही जरूरी है नए घर में प्रवेश करने से पहले। ऐसा माना जाता  है कि गृह प्रवेश पूजा नहीं करवाने से घर में सदैव कलह कलेश होते रहता है, स्वस्थ्य पर बुरा असर पड़ता है और घर में बरकत नहीं होती है।

Helpful Resources:

Suggested Readings:

नोट – अगर आप नए घर में शिफ्ट करने की सोंच रहे है तो ये मुहूर्त आपके लिए मंगलकारी साबित हो सकते है। फिर भी हम सलाह देते है कि आप किसी जानकार पंडित जी या ज्योतिषी से जरूर संपर्क करें। क्योंकि विभिन्न जगहों का ग्रह-नक्षत्रों के समय में अन्तर होता है। इसलिए अलग अलग जगहों के लिए गृह प्रवेश शुभ मुहूर्त अलग अलग हो सकते हैं। आशा है आपको यह लेख पसंद आयी होगी। नमस्कार !

8 thoughts on “नूतन गृह प्रवेश शुभ मुहूर्त 2022-23: नए साल में कब करें गृह प्रवेश, जानिये शुभ तिथि एवं मुहूर्त”

  1. Great information provide by you. This article are very helpful for us. Thankyou so, much to sharing the information about the purnima 2022. Many people are satisfied for the article

Leave a Comment

Your email address will not be published.